राजनैतिक संरक्षण में रेत के अवैध कारोबार पर अंकुश नहीं

Please Share This News

छत्तीसगढ़ के बिश्रामपुर में रेत माफियाओ पर नदियों की धारा मोड़ देने का आरेप है साथ छत्तीसगढ़ विधानसभा में विपक्षी विधायकों के दल द्वार मचाए गए हंगामे के बाद भी सूरजपुर जिले में खनिज विभाग के संरक्षण में नदी नालों से भारी मात्रा में रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन किया जा रहा है  वहीं राजनैतिक संरक्षण प्राप्त रेत माफियाओं के दबाव में माइनिंग अधिकारी द्वारा छोटे वाहनों जेसे  ट्रैक्टरों आदि के विरुद्ध कार्रवाई की जारही है जिससे ट्रैक्टर मालिक काफी परेशान है जबकि बड़ी वाहनों से रेत का अवैध परिवहन लगातार जारी है और कोई कार्यवही नही हो रही है  नदी नालों पर रेत माफियाओं का कब्जा लाहा तार जरी है  वही लोगों में आक्रोश है विपक्षी दल के द्वार  अवैध रेत उत्खनन को लेकर प्रशासन के खिलाफ लगातार आरोप लगा रहा है  वही बीते बुधवार को छत्तीसगढ़ विधानसभा में शून्यकाल के दौरान विपक्षी विधायकों ने अवैध रेत उत्खनन का मुद्दा जमकर उठाया और इस पर चर्चा कराने की मांग भी की। इतना ही नहीं नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने विधानसभा में कहा कि पूरे प्रदेश में रेत माफिया सक्रिय है। सरकार के संरक्षण में रेत का अवैध उत्खननफल फुल रहा है वही पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिह ने भी रेत के अवैध उत्खनन को लेकर नदी की दिशा बदलने की बात कही और रेत के अवैध कारोबार को लेकर सरकार को घेरा। सरकार की साठगांठ से रेत के अवैध कारोबार में रेत माफियाओं के सक्रिय है विपक्षी विधायकों द्वारा भी सरकार पर गिरते हुए अपने आक्रामक तेवर दिखाए।सूरजपुर जिले में भारी मात्रा में रेत के अवैध उत्खनन को लेकर मचा रहे हंगामा के संबंध में दो दिन पूर्व जिला पंचायत सूरजपुर की संपन्न समय सीमा बैठक में भी जिला पंचायत सीईओ आकाश छिकारा ने जानकारी देते हुए खनिज विभाग को रेत का अवैध उत्खनन रोकने के निर्देश दिए थे लेकिन उसके बावजूद राजनीतिक संरक्षण प्राप्त खनिज अधिकारी की सांठगांठ से जिले के नदी नालों से रेत का अवैध उत्खनन बेखौफ जारी है और शासन को रायल्टी के रूप में प्रतिदिन लाखों का नुकसान हो रहा है। सूरजपुर जिले के नदी नालों से भारी मात्रा में हो रहे रेत के अवैध उत्खनन एवं परिवहन पर रोक नहीं लगने से प्रशासनिक महकमे की छवि पर दाग लग रहा है।

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129