अधिसूचना जारी 17 अप्रैल को मतदान 2 मई को होगी मतगणना |

Please Share This News

उपचुनाव की अधिसूचना मंगलवार शाम जारी हो गई। यहां 17 अप्रैल को मतदान और दो मई को मतगणना होगी।

दमोह- विधानसभा में होने वाले उपचुनाव की अधिसूचना मंगलवार शाम जारी हो गई इस अधिसूचना के तहत गजट नोटिफिकेशन की तारीख 23 मार्च तय की गई है नामांकन जमा करने की अंतिम तारीख 30 मार्च और स्कूटनी की तारीख 31 मार्च तय की गई है नामांकन वापसी की तारीख 3 अप्रैल है मतदान 17 अप्रैल को होगा और मतगणना व चुनाव परिणाम दो मई को घोषित हो जाएंगे                                                                               जयंत मलैया को कुछ लोगो ने हराया था – बता दें कि वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से प्रत्याशी राहुल सिंह ने भाजपा प्रत्याशी पूर्व वित्तमंत्री जयंत मलैया को 798 वोट से चुनाव हरा दिया था कांग्रेस की सरकार में विधायक रहते हुए जब सिंधिया गुट के 22 विधायकों ने कांग्रेस से इस्तीफा दिया था उस समय भी राहुल सिंह कांग्रेस में थे लेकिन प्रदेश में हुए उपचुनाव के दौरान ही राहुल सिंह ने कांग्रेस पार्टी छोड़कर विधायक पद से इस्तीफा दिया और भाजपा में शामिल हो गए थे इसके बाद दमोह विधानसभा सीट भी खाली गई थी जिस पर चुनाव होना था भाजपा में राहुल सिंह के आने के तीन माह तक राहुल को कोई पद नहीं दिया गया लेकिन एक माह पहले ही उन्हें मप्र वेयर हाउसिंग एंड लॉजिस्टिक कॉर्पोरेशन का अध्यक्ष व कैबिनेट मंत्री का दर्जा दे दिया गया है  इसके बाद एक पखवाड़ा पहले दमोह पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने राहुल सिंह को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया था हालांकि राहुल के प्रत्याशी घोषित होने के बाद जयंत मलैया पार्टी से खफा हो गए है लेकिन उन्होंने यह भी साफ कर दिया है कि वह पार्टी नहीं छोड़ेंगे।                                                                                             पुत्र सिद्धार्थ मलैया ने खोला मोर्चा- जयंत मलैया के बेटे सिद्धार्थ मलैया ने भी राहुल सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और अब वह पार्टी में रहते हुए अपनी शक्ति का प्रदर्शन करने में जुटे हुए हैं वह भाजपा के वरिष्ठों को यह जताने का प्रयास कर रहे हैं कि यदि उन्हें टिकट नहीं मिला तो वह निर्दलीय भी चुनाव में खड़े हो सकते हैं हालांकि उन्होंने अभी तक खुलकर कुछ भी नहीं कहा है लेकिन एक इंटरव्यू में वह साफ कर चुके हैं कि वे कांग्रेस या किसी अन्य पार्टी से चुनाव नहीं लड़ेंगे लेकिन निर्दलीय का रास्ता उनके लिए खुला है वर्तमान में सिद्धार्थ मलैया एक आशीर्वाद यात्रा निकाल रहे हैं जिसमें वह भाजपा के सभी वरिष्ठ नेताओं से आशीर्वाद ले रहे हैं इसके मायने ये लगाए जा रहे हैं कि यदि सिद्धार्थ मलैया को भाजपा टिकट नहीं देती है तो वह भाजपा के वरिष्ठों से आशीर्वाद लेकर भाजपा प्रत्याशी राहुल सिंह के खिलाफ निर्दलीय चुनाव मैदान में उतर सकते हैं।

 

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129