भोपाल में हुई कोरोना से मौत के सरकारी आंकड़ों में बड़ा हेरफेर रिकॉर्ड में की गई है पहले मोत 109 बताई गई जबकि 2500 से ज्यादा लोगो का हुआ अंतिम संस्कार

Please Share This News

 कोरोना का कहर पूरे देश में फेला हुआ है अस्पतालों में ऑक्सीजनो व् वेक्सिन से मरीजो की लगातार मौत हो रही है कोरोना की दूसरी लहर ने पुरे भारत में कोहराम मचा हुआ है वही मध्य प्रदेश में भी बहुत बुरा हाल है और राजधानी भोपाल की स्थिति तो काबू से बाहर होती जा रहा है भोपाल में रोजाना सैकड़ों लोगों की मौत हो रही है लेकिन सरकारी आंकड़ों में ‘कमी’ दिखाई जा रही है भोपाल में मौत के सरकारी आंकड़ों में जमीन और आसमान का फर्क  है

भोपाल के प्रशासन की मानें तो अप्रैल महीने में भोपाल जिले में कोरोना वायरस से 109 लोगों की मौत हुई हैं जो कि सरकारी आंकड़े है लेकिन श्मशान घाट और कब्रिस्तान के आंकड़े कुछ और ही बोल रहे है सरकारी आंकड़ों की पोल खोलते नजर आ रहे हैं जिले में कोविड मृत्यु के लिए नामित तीन शमशान घाट और एक कब्रिस्तान हैं वह के रिकॉर्ड बताते हैं कि 1 से 30 अप्रैल तक 109 लोगो के अलावा 2,567 शवों का कोविड प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार किया गया है यह वहीं के रिकॉर्ड है कि इन चारों स्थानों पर इस अवधि के दौरान 1,273 गैर कोविड मरीजों का भी दाह संस्कार किया गया है

कुल मिलाकर भोपाल में 6 श्मशान और 4 कब्रिस्तान हैं जिसमें से चार श्मशान घाट और एक कब्रिस्तान को कोविड मरीजों के लिए रखा गया है इस दौरान कब्रिस्तान और शमशान के अधिकारियों ने बताया कि शवों की भीड़ से निपटने के लिए वो लोग संघर्ष कर रहे हैं उन्होंने बताया कि यहां दस्ताने और पीपीई किट चारों ओर बिखरे पड़े रहते हैं और हमारे कर्मचारी इस दौरान काम करते हैं नगर निगम को कम से कम श्मशान भूमि की साफ-सफाई करनी चाहिए उन्होंने वताया की यह कम करने करने वाले  कर्मचारियों की संख्या भी कम है वही श्मशान और कब्रिस्तान में दर्ज मौत के आंकड़ों के बारे में पूछे जाने पर स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ.प्रभुराम चौधरी ने कहा की कोई भी सरकारी आंकड़ा नही छुपाया जा रहा है सभी का कोविड प्रोटोकॉल के साथ अंतिम संस्कार किया गया है।

 

 

 

 

 

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129