स्वास्थ्य संगठनो व डॉक्टरों ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से मांग की है अब देश में सम्पूर्ण लॉकडाउन की आवस्यकता है <

Please Share This News

कोरोना लॉकडाउन:  देश में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण का कहर बढ़ता जा रहा है वही भारत लगभग 4 लाख से ज्यादा रोज नऐ केश सामने आते जा रहे है पूरे देश के सभी राज्यों में कोरोना लॉकडाउन या कोरोना कर्फू जेसे हालत है अभी कुछ दिनों की अपेछा  कोरोना के मामलो में कमी देखने को मिली है कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों तेजी से बढ़ते जा रहे है जिसको देखते हुए सभी राज्यों में सम्पूर्ण लॉकडाउन की मांग की जा रही है इस बीच डॉक्टरों के संगठन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने भो देश में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने पर जोर दे रहा है

IMA ने कहा है की कोविड-19 महामारी देश में बढ़ती जा रहीं चुनौतियों से निपटने के लिए जल्द से जल्द कदम उठाना चाहिय कोविड-19 महामारी की दूसरी खौफनाक लहर के कारण पूरे  देश में संकट से बढ़ता जा रहा है इससे निपटने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की ढिलाई और अनुचित कदमों के कारण IMA चकित है IMA की सरकार से मांग है की देश में सम्पूर्ण लॉकडाउन लगाया जाऐ तकि स्वास्थ्य की  पिछले 20 दिनों से जो व्यवस्था विग्दी है उसको ठिक किया जा  सके और ढांचे को और बेहतर करने के लिए साजो-सामान तथा कर्मियों को फिर से तैयार करने के लिए समय मिल सके है

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने भी संपूर्ण लॉकडाउन पर विचार करने को कहा था वहीं AIIMS के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया भी बीते साल की तरह सख्त लॉकडाउन की बात कर चुके हैं उन्होंने पिछले साल मार्च महीने की तरह ही सख्त लॉकडाउन की पैरवी की है इन सबके बीच कोरोना की तीसरी लहर की बात भी सामने आई है केंद्र सरकार के वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. के विजय राघवन कहा है कि देश में कोरोना की तीसरी लहर को टाला नहीं जा सकता है इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या केंद्र सरकार पिछले साल की तरह पूरे देश में लॉकडाउन लगाएगी

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129