देश में निर्मित डीआरडीओ की दवा जल्द होगी पूरे देश में उपलब्ध 12 मई तक आएंगे 10 हजार डोज

Please Share This News

कोरोना न्यूज: देश में बढ़ते कोरोना को देखते हुए अब सेना भी इस कोरोना की जंग में कूद गई है जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) और सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDMCO) ने मई 2020 में कोविड-19 रोगियों में दो-डीजी के चरण-दो  के ड्रग ट्रायल की अनुमित दे दी है                                                                                 देश में बढ़ते कोरोना को देखते हुए नई दिल्ली में  Anti COVID Drug को हाल ही में डीआरडीओ के द्वारा कोरोना रोगियों में लिए कोविड रोधी [Anti COVID drug] विकसित की गई है जिसके आपात इस्तेमाल के लिए डीसीजीआई [DCGI] ने इसे मंजूरी दे दी है हाल ही में इस दवा के कम से कम 10 हजार डोज 12 मई तक बाजार में उपलब्ध हो सकेगे  डीआरडीओ के चेयरमैन जी. सतीश रेड्डी ने इस बात का खुलासा किया है DRDO चीफ जी. सतीश रेड्डी ने बताया कि कोरोना मरीजों का इस दवा का सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही करना चाहिए उन्होंने बताया कि डीआरडीओ द्वारा तैयार की गई इस दवा के सेवन से ऑक्सीजन पर निर्भर कोरोना मरीज 2से 3 दिनो के अंदर ऑक्सीजन सपोर्ट को छोड़ देता है और जल्द ही रिकवर होने लगता है                                                                                देश में तैयार हुई ये दवा                                                                                                    गौरतलब है कि इस दवा को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की प्रतिष्ठित प्रयोगशाला आईएनएमएएस ने हैदराबाद के डॉ. रेड्डी लेबोरेटरी के साथ मिलकर विकसित किया है इस दवा का नाम 2-डीजी है इसका पूरा नाम 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज है बीते साल अप्रैल 2020 में महामारी की पहली लहर के दौरान आईएनएमएएस-डीआरडीओ के वैज्ञानिकों ने सेंटर फॉर सेलुलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (सीसीएमबी), हैदराबाद की मदद से प्रयोगों के दौरान पाया कि यह दवा सार्स-सीओवी-2 वायरस के खिलाफ प्रभावी ढंग से काम करती है और वायरल बढ़ने को रोकती है। इसी आधार पर ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) और सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDMCO) ने मई 2020 में कोविड-19 रोगियों में 2-डीजी के चरण-2 के ड्रग ट्रायल की अनुमित दी थी                                       दवा के सफल रहे परिणाम                                                                                                  अलग-अलग चरणों में किए गए कई परीक्षणों में सफल परिणामों के आधार पर DGCI ने नवंबर 2020 में चरण-3 नैदानिक परीक्षणों की अनुमति दी दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु के 27 कोविड अस्पतालों में दिसंबर 2020 से मार्च 2021 के बीच 220 मरीजों पर फेज-3 क्लीनिकल ट्रायल किया गया

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129