दिल्ली के अस्पतालो में 4 गुणा बढ़ी कोरोना संक्रमित बच्चों की संख्या<

Please Share This News

देश में जहा कोरोना संक्रमण देश में तेजी से फेल रहा है वही कोरोना संक्रमण के नये मामलों में गिरावट भी आन शुरु हो गई है  जो इक ख़ुशी की बात है पर इक न्य मामला दिल्ली के एलएनजेपी लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल का सामना आया है जहा पर पिछले साल की तुलना में कोविड प्रभावित बच्चों की संख्या अचाकन से 4 गुनी बढ़ने पर डॉक्टरों की चिंता बढ़ गई है।                                                                                                                                                                                                                                                   यहां पिछले 2 महीनों में 8 से 15 साल के कोरोना संक्रमित 29 बच्चे सामने आये हैं। जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। वहीं अस्पताल में भर्ती 29 में से 3 बच्चों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी है। ऐसे में कोरोना संक्रमित बच्चों की हालत गंभीर संख्या में इजाफा होते देख रही है सरकार को हिला दिया है  क्योकि यह कोरोना की तीसरी लहर का तो असर नहीं हैं। पर अभी कुछ भी स्पष्ट नही है इसी को देखते हुए सरकार ने डॉक्टरों की एक स्पेशल टीम गठित की गई है। जो इस बात का पता लगाने में जुटी है कि अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित बच्चे बढ़ते कोरोना का शिकार है। या फिर किसी दूसरे वायरस से प्रभावित है।

अस्पताल में बाल चिकित्सा को मजबूत करने के लिए पहले से मौजूद 15 में 6 बाल चिकित्सा वेंटिलेटर जोड़े हैं। इसके साथ ही बताया गया है की  बच्चों में कोविड के लक्षणों में बुखार, दस्त, वायरल निमोनिया और चिड़चिड़ापन शामिल है।                                                                                                                                     कुछ बच्चों को ऑक्सीजन की कमी भी महसूस होती है। इस बार पिछले साल से ज्यादा बच्चों के कोविड पॉजिटिव पाए जाने के मामले सामने आ रहे हैं। वहीं इस बार ज्यादा से ज्यादा बच्चों का भी कोरोना टेस्ट किया जा रहा है। जिनमें पॉजिटिव मामले भी सामने आ रहे हैं।                                                                                                                                                                                                                           इनमें 6 साल से कम उम्र के बच्चे भी शामिल है। देखने में आया है की बच्चे संक्रमित लोगों के संपर्क में आ रहे हैं। और उनसे वह कोरोना संक्रमित हो रहे है एलएनजेपी अस्पताल के सीनियर डॉक्टर ने बताया कि हमने 15 बाल रोग विशेषज्ञों की की एक टीम गठित की है। यह टीम बच्चों में कोरोना के लक्षण को लेकर लगातार रिसर्च कर रही है कि कैसे 29 में से कोई भी बच्चा गंभीर नहीं हुआ है

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129