दिल्ली पुलिस की टीम, टूलकिट मामले को लेकर शुरू की छानबीन<

Please Share This News

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल टूल किट मामले की जांच शुरू कर दी थी। हालांकि इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं की गई थी। कोरोना टूलकिट मामले को लेकर भाजपा समेत दूसरी राजनीतिक पार्टी के कई नेताओं ने माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर पोस्ट शेयर किये थे।

कोरोना को लेकर कथित टूलकिट मामले में छानबीन तेज हो गई है। इसी को लेकर सोमवार को दिल्ली पुलिस की टीम ने माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर को (Twitter Notice) नोटिस भेजने के बाद उनके ऑफिस पर छापेमारी की। इस दौरान टीम ने ट्वीटर के ऑफिस की छानबीन शुरू की है। वहीं पुलिस की एक टीम ने हरियाणा स्थित दफ्तर पर छापेमारी की। वहीं टूलकिट मामले को लेकर टि्वटर पर शेयर किए गए पोस्ट्स के नीचे मैनिपुलेटेड मीडिया लिखे जाने को लेकर स्पेशल टीम ने यह कार्रवाई की है। बता दें कि इस मामले को लेकर पुलिस ने ट्वीटर को नोटिस भेजकर जवाब मांगा था। मामले में दर्ज नहीं हुई थी एफआईआर मीडिया खबरों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल (Toolkit Case) टूल किट मामले की जांच शुरू कर दी थी। हालांकि इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं की गई थी। कोरोना टूलकिट मामले को लेकर भाजपा समेत दूसरी राजनीतिक पार्टी के कई नेताओं ने माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर पोस्ट शेयर किये थे। इन पोस्ट में राजनीतिक पार्टी के ऊपर आरोप लगाये थे। इसको लेकर कांग्रेस ने मामले की शिकायत (Delhi Police) दिल्ली पुलिस से की थी। जिस पर भाजपा नेताओं समेत केंद्र सरकार ने इस पर आपत्ति जताई थी। जिसमें केंद्र सरकार ने कहा था कि टि्वटर की इस हरकत से इस माइक्रोब्लॉगिंग साइट के मध्यस्थ और तटस्थ रहने की भूमिका पर सवाल उठते हैं। यह (Central Government) केंद्र सरकार ने टूलकिट को देश में कोरोना रोकथाम की कोशिशों को बदनाम करने की साजिश करार देते हुए कहा था कि जब तक इस मामले की जांच की जा रही है, टि्वटर पोस्ट्स के नीचे लगाए गए मैनिपुलेटेड मीडिया का टैग हटाये। सरकार ने टि्वटर को दोटूक कहा था कि Twitter ये तय नहीं करेगा, बल्कि जांच एजेंसियों की रिपोर्ट से पता चलेगा कि यह कंटेंट सही है या गलत। जब तक इस प्रकरण की जांच हो रही है, तब तक Twitter अपना फैसला नहीं दे सकता है।

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129