भोपाल के हबीबगंज थाने में आया लव जिहाद का मामला<

Please Share This News

भोपाल के हबीबगंज  थाने में आया लव जिहाद का मामला  नाबालिग को 3 दिन अगवा करके रखा मुस्लिम युवक अनस खान ने अपना नाम बताया था अजय डेढ़ साल से प्रेम प्रसंग में फंसाया हुआ था। संस्कृति बचाओ मंच के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने बताया कि क्या आटो चालक मुस्लिम युवक अनस खान हिंदू लड़की के पिता की पान की गुमटी पर आकर अपना नाम अजय बताते हुए धीरे-धीरे संपर्क बढ़ाया और नाबालिक बच्ची को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया उसके पश्चात जब माता-पिता को पता चला तो उन्होंने इसका विरोध किया तो उनसे लड़ाई झगड़ा करने का प्रयास किया एवं लड़की को बहला-फुसलाकर उसके सारे डाक्यूमेंट्स भुलवा के 1 दिन अपने साथ रखा और 2 दिन स्टेशन पर छोड़ दिया उसके बाद अपने साथ बाहर ले जाने का प्रयास किया तब लड़की के पिता ने संस्कृति बचाओ मंच चंद्रशेखर तिवारी  विकास बाजपेयी नीलेश राजपूत रुद्र त्रिपाठी पुष्पेन्द्र लोधी और बजरंग दल के पदाधिकारियों दीपक शर्मा विहिप के राजा सिसोदिया से संपर्क किया नाबालिक युवती ने बताया कि अनस ने अपना नाम अजय बताया था और धीरे-धीरे मुझसे दोस्ती करके मुझे अपने प्रेम जाल में फंसा लिया था जब पिता जी को यह बात पता चली तो उसने मुझे बहला-फुसलाकर यह कहा कि तुम सारे कागजात लेकर मेरे पास आ जाओ हम भोपाल के बाहर चले चलेंगे और  उसके साथ अनैतिक कृत्य  बलात्कार किया चंद्रशेखर तिवारी ने कहा कि लव जेहाद की घटनाएं दिनों दिन बढ़ती चली आ रही है और अब इसकी पराकाष्ठा ज्यादा हो गई है इसलिए हिंदू समाज को भी हम जागृत करेंगे और अगर अब इस प्रकार की घटनाओं की पुनरावृत्ति होगी तो यह ठीक नहीं होगा वर्ग विशेष के लोग हमारी हिंदू बच्चियों को लव जिहाद के शिकार कर रहे हैं और बहला-फुसलाकर उनके साथ अनैतिक कार्य कर रहे हैं संस्कृति बचाओ मंच इसका विरोध करता है संस्कृति बचाओ मंच का यह भी कहना है कि जब मुस्लिम धर्मगुरु कई चीजों के लिए फतवा जारी करते हैं तो लव जिहाद की घटनाओं को रोकने के लिए फतवा क्यों नहीं जारी करते उनको फतवा जारी करके कहना चाहिए कि हमें हिंदू समाज की लड़कियों से विवाह नहीं करना हमें सिर्फ अपने समाज की लड़कियों से विवाह करना चाहिए जिससे कि यह विद्वेष नहीं फेलेगा। https://youtu.be/OLgRwQQTx3w

मध्य प्रदेश मे लव जिहाद को रोकने के लिए काकून बनाया गया है। मार्च 2021

मध्यप्रदेश में लव जिहाद पर लगाम लगाने के लिए सोमवार को ‘मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक-2021′ (फ्रीडम ऑफ रिलीजन) को विधानसभा में पारित किया गया है। राज्य में इस विधेयक को राज्यपाल की मंजूरी मिलने के बाद लागू किया जाएगा। इसके तहत जबरन धर्म परिवर्तन कराने वालों को पांच साल से लेकर 10 साल तक की जेल हो सकती है।

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129