हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार है टीम मध्यप्रदेश आपदा नियंत्रण के म.प्र. ने किए हैं बेहतर इंतजाम भगीरथ प्रयास के लिए अभिनंदन<

Please Share This News

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने राज्य स्तरीय सिचुएशन रूम तथा कंट्रोल एण्ड कमाण्ड सेंटर का लोकार्पण किया

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अत्याधुनिक तकनीकी का उपयोग करते हुए मध्यप्रदेश ने आपदा नियंत्रण के बेहतर इंतजाम किए हैं। बाढ़, भूकंप, आग, दुर्घटना आदि सभी प्रकार की आपदाओं की हर परिस्थिति से निपटने के लिए टीम मध्यप्रदेश तैयार है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस भगीरथ प्रयास के लिए मैं गृह विभाग, होमगार्डस, एस.डी.ई.आर.एफ. सहित सभी संबंधित विभागों का अभिनंदन करता हूँ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज वल्लभ भवन एनेक्सी-2 में स्थापित राज्य स्तरीय सिचुएशन रूम तथा होम गार्ड मुख्यालय पर स्थापित राज्य-स्तरीय कंट्रोल एण्ड कमाण्ड सेंटर का लोकार्पण किया। इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी, डीजी होमगार्डस, अपर मुख्य सचिव श्री राजेश राजौरा और अपर मुख्य सचिव श्री एस.एन. मिश्रा आदि उपस्थित थे।

आपदा प्रबंधन के लिए मजबूत नेटवर्क तैयार

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अब प्रदेश में आपदा प्रबंधन के लिए मजबूत नेटवर्क बन गया है। राज्य स्तरीय सिचुएशन रूम को राज्य-स्तरीय कंट्रोल एण्ड कमाण्ड सेंटर तथा 52 जिलों के कन्ट्रोल एण्ड कमांड सेंटर्स से जोड़ा गया है।

लाइव दिखेगा रेस्क्यू ऑपरेशन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस नेटवर्क के विकसित हो जाने तथा इसमें अत्याधुनिक तकनीक के उपयोग से आपदा के दौरान न केवल त्वरित बचाव और राहत कार्य संपादित होंगे अपितु बचाव और राहत कार्यों (रेस्क्यू ऑपरेशन) की लाइव मॉनीटरिंग भी की जा सकेगी।

16 विभागों के लाइव फीड का उपयोग होगा

राज्य स्तरीय सिचुएशन रूम तथा राज्य स्तरीय कन्ट्रोल कमाण्ड सेंटर में 1000 एमबीपीएस लीज्ड लाइन के माध्यम से विभिन्न प्रकार के डाटाबेस जैसे – समस्त बांधों का अद्यतन जल-स्तर, बांधों के गेट खोलने की अद्यतन स्थिति, नदी गेज के माध्यम से नदियों का अद्यतन जल-स्तर, मौसम विभाग का अपडेटेड डाटाबेस, डायल-100 तथा डायल-108 के एम्बुलेंस एवं वाहनों का रियल टाइम डाटाबेस, ट्रेफिक के 10 हजार सी.सी.टी.वी. कैमरों की लाइव फीड, स्मार्ट सिटी के 500 कैमरों की लाइव फीड आदि प्राप्त होंगे। कुल 16 विभागों के लाइव फीड का उपयोग आपदा प्रबंधन में किए जाने की व्यवस्था रहेगी।

विभिन्न धर्म-स्थलों एवं मेला-स्थलों की लाइव फीड

विभिन्न धर्म-स्थलों एवं मेला-स्थलों की लाइव फीड भी सिचुएशन रूम तथा राज्य-स्तरीय कन्ट्रोल कमाण्ड सेंटर को उपलब्ध होगी। इनमें आपदा की स्थिति निर्मित होने पर बेहतर प्रबंधन राज्य स्तर से सुनिश्चित हो सकेगा।

जिला स्तरीय कमाण्ड एवं कंट्रोल सेंटर

प्रदेश के 52 जिलों में से 45 जिलों में जिला कमाण्ड एवं कंट्रोल कॉल सेंटर की स्थापना की जा रही है तथा 7 स्मार्ट सिटी वाले जिलों में स्मार्ट सिटी परियोजना अंतर्गत पूर्व से स्थापित (इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर्स) का ही उपयोग किया जाएगा। तीन जिलों होशंगाबाद, सीहोर एवं रायसेन में जिला कमांड एवं कंट्रोल सेंटर की पायलट परियोजना प्रारंभ की गयी है।

शासन की विभिन्न गतिविधियों में उपयोग

सिचुएशन रूम तथा कमाण्ड एवं कंट्रोल सेंटर्स का शासन की विभिन्न गतिविधियों – आपदा एवं आपातकालीन स्थिति में जिला स्तरीय कॉल सेंटर के रूप में, सी.एम. हेल्पलाइन की मॉनीटरिंग के लिए, लोक सेवा प्रदाय व्यवस्था में सुधार के लिए फीडबैक, सरकार द्वारा समय-समय पर चलाये जाने वाले अभियान, सर्वेक्षण, खरीदी, टीकाकरण, अन्य गतिविधियाँ, लोक सेवा प्रदाय व्यवस्था में सुधार के लिए फीडबेक तथा जिला प्रशासन की आवश्यकता अनुसार उपयोग भी किया जा सकेगा।

आपदा नियंत्रण का मॉक लाइव डेमो भी देखा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सिचुएशन रूम में होमगार्डस द्वारा किया गया आपदा नियंत्रण का मॉक लाइव डेमो भी (वर्चुअली) देखा। इसके अंतर्गत नदी में डूबते लोगों को बचाने का बचाव एवं राहत कार्य देखा गया।

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129