दो दिवसीय वैक्सीनेशन महाअभियान को सभी मिलकर बनाएँ कामयाब: मुख्यमंत्री श्री चौहान>

Please Share This News
मध्यप्रदेश देश में सर्वाधिक वैक्सीनेशन करने वाला दूसरा प्रांत 60 प्रतिशत को लग चुका है प्रथम डोज

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में आगामी 25 और 26 अगस्त को वैक्सीनेशन महाअभियान को सफल बनाने के लिए मंत्रीगण की उपस्थिति में सभी कलेक्टर्स और क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स के सदस्यों से वर्चुअल  चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-प्रतिनिधियों, प्रशासनिक अधिकारियों से मुखातिब होकर विस्तृत निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी मिलकर इस महाअभियान को कामयाब बनायें। प्रदेश में वैक्सीनेशन महाअभियान के लिए तैयार की गई रणनीति के अनुसार 25 अगस्त को 20 लाख लोगों को पहला और दूसरा डोज, 26 अगस्त को 10 लाख लोगों को दूसरा डोज प्राथमिकता से देने का निर्णय लिया गया है। अगस्त माह में भारत सरकार से प्राप्त करीब 74.7 लाख डोज में से 73.9 लाख की खपत हो चुकी है। प्रदेश में महाअभियान के लिए आवश्यक डोजेज की व्यवस्था की गई है। प्रदेश की वैक्सीनेशन के लिए पात्र 5 करोड़ 48 लाख 90 हजार आबादी में से 3 करोड़ 32 लाख को प्रथम डोज और 64 लाख 90 हजार आबादी को द्वितीय डोज लग चुका है। देश में मध्यप्रदेश, गुजरात के बाद सर्वाधिक वैक्सीनेशन करने वाला प्रांत है।  

उत्सव का वातावरण बनाएँ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा वैक्सीनेशन के लिए सबको प्रेरित करें, ये पुण्य का कार्य है। वैक्सीनेशन महाअभियान में आशा और उषा, आँगनबाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी ही नहीं अन्य विभाग भी सक्रिय भूमिका निभायें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रभारी मंत्री इस महाअभियान की तैयारियों पर नजर रखें। उत्सव का वातावरण बनाएँ। नागरिक प्रथम डोज लगवाने के बाद लापरवाही बरत रहे हैं। दूसरा डोज न लगवाने से प्रथम डोज का प्रभाव कम हो जाता है। यह बात आमजन को बताते हुए जन-जागरण का कार्य आवश्यक है। सितम्बर माह तक प्रथम डोज शत-प्रतिशत पात्र आबादी को लग जाए, यह लक्ष्य है। पंचायतवार, दूसरे डोज के लिए लाभार्थियों की सूची तैयार कर कार्य हो रहा है। कंट्रोल रूम की स्थापना, कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर लोगों को पीले चावल देकर वैक्सीनेशन के लिए आमंत्रित करने और अन्य नवाचारों से वैक्सीनेशन के महाअभियान को गति दी जाए। सोशल मीडिया पर भी अपील करते हुए लोगों को प्रेरित किया जाए। विभिन्न क्षेत्रों के प्रख्यात व्यक्तियों का भी सहयोग इसके लिए लिया जाए।

भाई-बहन सुनिश्चित करें एक-दूसरे की सुरक्षा

 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी जन-प्रतिनिधि सहयोग करेंगे तो अभियान निश्चित ही सफल होगा। आम जनता भी इस महाअभियान से जुड़े और इसे सफल बनाएँ। मुख्यमंत्री श्री  चौहान ने कहा कि रक्षाबंधन पर टीका लगवाने की बात भाई-बहन याद  रखें। रक्षाबंधन पर भाई-बहन परस्पर यह सुनिश्चित करें कि उन्होंने टीका लगवाकर जीवन रक्षा की  कोशिश की है या नहीं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महाअभियान को इसलिए भी कामयाब बनाना है क्योंकि ये जिंदगी का डोज है। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी  को भी धन्यवाद दिया। वैक्सीनेशन और कोविड अनुकूल व्यवहार ही कोरोना नियंत्रण का प्रभावी माध्यम है। वैक्सीन के लिए प्रत्येक व्यक्ति, प्रत्येक संस्था लोगों को प्रेरित करें कि वे  वैक्सीन जरूर लगवाएँ, जिनका दूसरा डोज ड्यू है उन्हें विशेष रूप से प्रेरित करना है।

कार्यकर्ता करेंगे मोबलाइज

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विभिन्न धर्मगुरू और समाजसेवी भी इस अभियान से जुड़ जायें तो अच्छी सफलता मिलेगी। प्रदेश में जन-जागरण से सितम्बर माह तक प्रथम डोज के लक्ष्य को शत-प्रतिशत प्राप्त करना है। दो दिवसीय महाअभियान में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्य, करीब एक लाख कोरोना वॉलेंटियर्स, 32 हजार मोबलाइजर्स और 3.75 लाख ब्रिगेड सदस्यों के माध्यम से दूसरी डोज के बैकलॉग लाभार्थियों को जुटाने का कार्य किया जायेगा। महाअभियान में सार्थक लाइट एप पर वॉलेंटियर्स का पंजीकरण भी किया गया है। प्रत्येक वॉलेंटियर को दूसरे डोज के ड्यू 20 लाभार्थी की सूची मोबलाइजेशन के लिए प्राप्त होगी।

प्रथम महाअभियान में इंदौर अव्वल

 प्रदेश में 21 जून से 3 जुलाई के मध्य संचालित प्रथम  वैक्सीनेशन महाअभियान में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन  तीन जिलों इंदौर, सीहोर और उज्जैन का रहा है। इंदौर जिले में 21.3 प्रतिशत, सीहोर जिले में 18.2 प्रतिशत और उज्जैन जिले में 16.5 प्रतिशत पात्र आबादी को प्रथम डोज लगाया जा चुका है। इंदौर शहर वैक्सीनेशन में  प्रदेश में प्रथम है। यहाँ 95 प्रतिशत लोग प्रथम डोज और 27 प्रतिशत लोग द्वितीय डोज लगवा चुके हैं। शहरी क्षेत्र में वैक्सीनेशन कार्य अच्छा हुआ है। भोपाल शहर में प्रथम डोज 85 प्रतिशत और दूसरा डोज 25 प्रतिशत लोग लगवा चुके हैं। अन्य जिलों में हरदा की स्थिति भी बहुत अच्छी है, जहाँ 82 प्रतिशत वैक्सीनेशन हुआ है।

मध्यप्रदेश का मॉडल सराहा गया

सांसद श्री विष्णु दत्त शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में कोविड के संकट को रोका है। जनता की भागीदारी से यह कार्य आसान हुआ। मध्यप्रदेश के मॉडल की राष्ट्रीय स्तर पर सराहना हुई है। जहाँ 25 अगस्त को वैक्सीन प्रथम और द्वितीय डोज और 26 अगस्त को वैक्सीन के दूसरे डोज पर फोकस किया जा रहा है। समाजसेवी और कार्यकर्ता पात्र लोगों को वैक्सीनेशन केंद्रों तक लाने के साथ ही उनका सहयोग भी करेंगे। श्री शर्मा ने आशा व्यक्त की कि तीसरी लहर की आशंका से बचने के लिए सरकार और सभी संगठन, दल और नागरिक मिलकर कार्य करते हुए इतिहास बनायेंगे।

मुख्यमंत्री निवास में हुई बैठक में श्री सुहास भगत, श्री हितानंद जी के अलावा मंत्री सर्वश्री गोपाल भार्गव, विश्वास सारंग, डॉ. प्रभुराम चौधरी, बिसाहूलाल सिंह, कमल पटेल, मोहन यादव, राम खेलावन पटेल, सुश्री ऊषा ठाकुर, श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, श्री ब्रजेंद्र प्रताप सिंह और श्री भारत सिंह कुशवाह, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री  मोहम्मद सुलेमान और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129