विकास का प्रकाश गरीबों तक पहुँचाने के लिए सरकार संकल्पित: मुख्यमंत्री श्री चौहान>

Please Share This News

पीएम स्वनिधि योजना के 50 हजार हितग्राहियों को 50 करोड़ की राशि वितरित की
स्वनिधि योजना के द्वितीय चरण का हुआ शुभारंभ किया |

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश सरकार गरीबों के कल्याण के लिए लगातार कार्य कर रही है। साथ ही जन-कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से गरीबों का जीवन-स्तर बेहतर बनाया जा रहा है। विकास का प्रकाश गरीबों तक पहुँचाने के लिए सरकार संकल्पित है। हम गरीबों के समावेशी विकास तथा सबका साथ-सबका विकास की अवधारणा पर चल रहे है। प्रदेश में गरीबों के लिए रोटी, कपड़ा, मकान के साथ पढ़ाई-लिखाई और दवाई की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज बालाघाट में प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में प्रथम एवं द्वितीय किश्त वितरण के राज्य स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के 50 हजार हितग्राहियों के खाते में 50 करोड़ की राशि सिंगल क्लिक से अंतरित की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वनिधि योजना के द्वितीय चरण का शुभारंभ भी किया। योजना के द्वितीय चरण में हितग्राहियों के खाते में ब्याज मुक्त 20-20 हजार रूपये की राशि अंतरित की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह योजना कोविड संकट के दौरान प्रभावित होने वाले छोटे व्यापारियों के लिए संजीवनी बनी है। उन्होंने कहा कि स्वनिधि योजना से मिलने वाली सहायता राशि से छोटे व्यापारी धीरे-धीरे अपना काम बढ़ा सकते हैं। सरकार सबसे पीछे एवं सबसे नीचे के व्यक्ति के कल्याण के लिए प्रतिबद्धता से काम कर रही है।

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश प्रथम

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश पूरे देश में प्रथम हैं। योजना के प्रारंभ में ही लगभग 3.50 लाख हितग्राहियों को 10-10 हजार रूपये की सहायता राशि वितरित की गई थी। आज योजना के द्वितीय चरण के शुभारंभ पर प्रदेश के लगभग 1000 हितग्राहियों को योजना की द्वितीय किस्त 20-20 हजार रूपये प्रदान की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पीएम स्वनिधि योजना का लाभ छोटे वर्ग को निरंतर मिल रहा है। इससे उनके जीवन की गाड़ी कोविड एवं अन्य विपरीत परिस्थितियों में भी चल रही है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्व-सहायता समूहों को कोविड संकट के पूर्व दी जाने वाली मदद को सरकार द्वारा पुनः प्रारंभ किया जाएगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं में अद्भुत रचनात्मक शक्ति होती है। देश एवं प्रदेश का सशक्तिकरण, महिलाओं के सशक्तिकरण के बिना संभव नहीं है। महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए उनका आर्थिक सशक्तिकरण अति आवश्यक है। गरीबों को अन्नोत्सव में कम मूल्य पर खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने निर्देश दिए कि खाद्यान्न उपलब्धता से कोई पात्र गरीब वंचित न रहे। छूटे हुए नाम तत्काल जोड़ें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गरीबों का कल्याण प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। गरीबों के लिए रोटी के साथ मकान भी जरूरी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में वर्ष 2024 तक सभी गरीबों को पक्के मकान उपलब्ध करा दिए जाएंगे। गरीबों के विकास में सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। आगामी 18 तारीख को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के द्वितीय चरण में 5 लाख नए कनेक्शन दिए जाएंगे।

वैक्सीनेशन की अपील

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर को आने से रोकने के लिए सभी का सहयोग जरूरी है। उन्होंने सभी से कोविड अनुकूल व्यवहार अपनाने का आग्रह किया। साथ ही टीकाकरण कराने की अपील भी की। उन्होंने कहा कि कोविड का टीका जिंदगी का टीका है, टीका जरूर लगावाएं। प्रथम डोज लगाने वाले व्यक्ति अपने निर्धारित समय पर दूसरा डोज जरूर लगवाएँ।

हितग्राहियों से किया संवाद

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से लाभान्वित प्रदेश के अलग-अलग जिलों के हितग्राहियों से सजीव संवाद किया। उन्होंने कपड़े का व्यवसाय करने वाले बुरहानपुर के मानिक पवार, सागर के राकेश, गुना के मोनू जाटव, कोठी सतना में सौंदर्य प्रसाधन का छोटा व्यवसाय करने वाली सपना गुप्ता तथा बुधनी में लकड़ी के खिलौने का व्यवसाय करने वाले राकेश गडवाल से संवाद किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी हितग्राहियों से उनके व्यवसाय और परिवार के बारे में आत्मीय संवाद करते हुए शुभकामनाएँ दीं।

हितालाभ वितरण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से लाभान्वित होने वाले हितग्राहियों को मंच से हितलाभ वितरित किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बाल हृदय उपचार योजना के लिए चिन्हित हुए बच्चों को भी सहायता राशि के चेक प्रदान किये। जिले के 318 महिला स्व-सहायता समूहों को 4 करोड़ 26 लाख रुपए का क्रेडिट वितरण भी किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मुख्यमंत्री कोविड़-19 अनुकंपा नियुक्ति योजना के लाभांवित व्यक्तियों से मुलाकात भी की।

योजनाओं के स्टालों का किया निरीक्षण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम में विभागों द्वारा योजनाओं की प्रदर्शनी के लिए लगाए गए स्टॉल का निरीक्षण किया। उन्होंने “एक जिला-एक उत्पाद” के तहत बालाघाट जिले से चिन्हित उत्पाद और बालाघाट में पैदा होने वाली विभिन्न प्रकार की धान की किस्मों की जानकारी भी ली।

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह सागर से सजीव प्रसारण के माध्यम से जुड़े। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में पूरे देश में सराहनीय कार्य कर रही है। सागर जिला पूरे प्रदेश में प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के क्रियान्वयन में प्रथम स्थान पर है।

कार्यक्रम में खजुराहो सांसद श्री बी.डी. शर्मा एवं वित्त मंत्री श्री जगदीश देवड़ा भी वर्चुअल शामिल हुए। श्री बी.डी. शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जन-कल्याणकारी योजना चलाई जा रही है और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा इन योजनाओं का जमीनी क्रियान्वयन संवेदनशीलता के साथ किया जा रहा है। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना आत्म-निर्भरता की दिशा में बड़ा कदम है। इस योजना के प्रथम चरण में हितग्राही को ब्याज मुक्त 10 हजार रुपए उपलब्ध कराये जाते है। हितग्राही द्वारा यह राशि जमा करने पर उन्हें सरकार द्वारा द्वितीय चरण में 20 हज़ार प्रदान किए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में जल संसाधन विकास राज्य मंत्री एवं आयुष मंत्री श्री रामकिशोर (नानो) कावरे, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा, पर्यावरण मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग, सांसद श्री ढाल सिंह बिसेन, विधायक एवं पूर्व मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन, विधायक एवं अध्यक्ष खनिज विकास निगम प्रदीप जायसवाल सहित जन-प्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे। राज्य सरकार के मंत्री, सांसद, विधायक एवं प्रदेश की सभी नगरीय निकाय इस राज्य स्तरीय कार्यक्रम में वर्चुअल शामिल हुई।

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का अपना राशिफल देखें

Get Your Own News Portal Website 
Call or WhatsApp - +91 84482 65129