नई दिल्ली, विनय तिवारी। Kisan Andolan: भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है मगर इस बार उनका अंदाज कुछ बदला हुआ है। अब उन्होंने शहीद भगत सिंह की जेल डायरी-127 की कुछ लाइनें ट्वीट की है। इस ट्वीट के माध्यम से एक तरह से वो किसानों को जोश दिलाना चाहते हैं, इस ट्वीट में लिखा हुआ है कि अधिकार मांगो नहीं बढ़कर ले लो। इसके बाद लिखा है कि यदि मुफ्त में तुम्हें कोई अधिकार दिया जाता है तो समझो कि उसमें कोई न कोई राज जरूर है। ज्यादा संभावना यही है कि किसी गलत बात को उलट दिया गया हो, इसके बाद भगत सिंह जेल डायरी-127 लिखा हुआ है।
केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान नेता राकेश टिकैत साल 2020 नवंबर से ही धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। यूपी गेट पर उन्होंने प्रदर्शन की कमान संभाल रखी है। इसके अलावा भी वो समय-समय पर प्रदेशों में जाकर वहां किसानों को सरकार के खिलाफ करते रहते हैं उनको अपने साथ जोड़ते रहते हैं। कुछ दिन पहले मुजफ्फरनगर में हुई महापंचायत में भीड़ को देखकर वो काफी गदगद हुए थे। कई दिनों तक उस भीड़ की फोटो और अन्य चीजें ट्वीट की जाती रही, साथ ही दूसरे किसानों में उत्साह भरा जाता रहा जिससे वो सब जुड़े रहे। इससे पहले वो बंगाल के चुनाव में भी जाकर सरकार के खिलाफ विद्रोह कर चुके हैं।
राकेश टिकैत शुरू से ही इस बात पर अड़े हुए हैं कि जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि कानून वापस नहीं ले लेती है तब तक धरना खत्म नहीं होगा भले ही इसके लिए कितने और सालों पर आंदोलन करना पड़े। उधर प्रदेश सरकार किसानों के लिए गन्ने के प्रति क्विंटल मूल्य में भी इजाफा कर चुकी है, केंद्र सरकार ने भी कई घोषणाएं की मगर फिर भी किसान किसी भी तरह से आंदोलन को खत्म करने के मूड में नहीं दिख रहे हैं। अब राकेश टिकैत ने शहीद भगत सिंह की लाइनें ट्वीट करके आंदोलन को नई दिशा देने का प्रयास किया है।