मुंबई अभिनेता शाहरुख खान के पुत्र आर्यन खान की मुश्किलें बढ़ गई हैं। कोर्ट ने यह कहते हुए उनकी एनसीबी हिरासत सात अक्तूबर तक बढ़ा दी है कि जांच की अपनी अहमियत होती है। आरोपित का एनसीबी के साथ रहना जरूरी है। नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की ओर से पेश किए गए रिमांड पेपर में कहा गया था कि आर्यन खान के फोन में तस्वीरों के रूप में कई आपत्तिजनक चीजें मिली हैं। ये पिक्चर्स चैट इंटरनेशनल ड्रग ट्रैफिकिंग की ओर इशारा करते हैं। इसलिए उनकी एनसीबी हिरासत 11 अक्तूबर तक बढ़ाई जानी चाहिए।

एनसीबी की ओर से पेश एडीशनल सालीसीटर जनरल अनिल सिंह ने कोर्ट को बताया कि क्रूज में चल रही पार्टी से एनसीबी को 13 ग्राम कोकीन, पांच ग्राम मेफरड्रोन (एमडी), 21 ग्राम चरस, एमडीएमए की 22 गोलियां एवं 1,33,000 रुपए बरामद हुए हैं। इसके जवाब में आर्यन के वकील सतीश मानेशिंदे ने कहा कि आर्यन क्रूज पर एक मेहमान के रूप में गए थे। उन्हें क्रूज पर विशेष अतिथि के तौर पर ब

एनसीबी की जांच में आर्यन के पास से न तो ड्रग मिली है, न ही पैसे। ये सारी चीजें क्रूज पर से बरामद हुई हैं। मानेशिंदे के तर्कों के बाद जब कोर्ट ने एनसीबी से पूछा कि वे आर्यन की हिरासत क्यों चाहते हैं, तो एनसीबी का कहना था कि वह यह पता लगाना चाहते हैं कि उन्हें पार्टी में क्यों बुलाया गया था और वहां किस केबिन में रुके थे। जबकि आर्यन के वकील सतीश मानेशिंदे का कहना था कि आर्यन को ड्रग्स बेचने की जरूरत नहीं है। वह क्रूज में क्यों गए थे, यह पता करना एनसीबी का काम नहीं है। वह चाहें तो पूरा शिप खरीद सकते हैं।